लाईव चेनलविविध

NEWS Leaders Khargone Top 2 : खरगोन बाइक और बोलेरो की टक्कर, 1 की मौत, 2 घायल !

खरगोन – 21 लाख के साथ चौकीदार ने किया सरेंडर, हुआ खुलासा, जानिए पूरी रिपोर्ट !

खरगोन से अबरार खान की रिपोर्ट

▪︎जिला सहकारी बैंक की शाखा घुघरियाखेडी से चोरी हुई 21.26 लाख रूपये लेकर फरार हुआ सुरक्षा गार्ड थाने परिजनों के साथा पहुंचा।▪︎31 अक्टुबर की रात की गई थी वारदात।▪︎अगले दिन बैंक खुलने पर पता चला था घटना के संबंध में,▪︎पुलिस अधीक्षक खरगोन द्वारा स्वयं जाकर घटनास्थल का किया था निरीक्षण,▪︎बैंक के सीसीटीव्ही केमरो में घटना को अंजाम देते कैद हो गया था आरोपी सुरक्षा गार्ड,▪︎पुलिस द्वारा आरोपी से चोरी की गई पुरी रकम 21 लाख 26 हजार 999 रुपये बरामद की गई।

जिला सहकारी बेंक की शाखा घुघरियाखेडी के मैनेजर द्वारा गोगांवा पुलिस को सूचना दी गई कि रोजाना की तरह सुबह बैंक खोली गई व बैंक की तिजोरी को चेक किया गया तो उसमें रखे कुल 21 लाख 26 हजार 999 रूपये किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा चोरी कर लिये गये हैं। तिजोरी व बैंक के शटर में लगे तालों को तोडा नहीं गया हैं।

सूचना पर तत्काल पुलिस रवाना हुई व घटनास्थल पर पुलिस अधीक्षक श्री धर्मवीरसिंह भी पहुंचे। जहां हर स्थिति का बारिकी से निरीक्षण कर बैंक में लगे सीसीटीव्ही केमरो की फुटेज देखी गई तो 31 अक्टूबर की रात 7 बजे से 8 बजे के बीच बैंक का सुरक्षा गार्ड अंतिम पाटीदार बैंक बंद हो जाने के बाद वापस आता हैं व चाबी से ताला खोलकर बैंक की तिजारी से पैसे निकाल कर अपने बेग में रखकर मोटर सायकल से खरगोन तरफ रवाना हो जाता हैं। सीसीटीव्ही फुटेज व बेंक मेनेजर की रिपोर्ट पर से सुरक्षा गार्ड अंतिम पाटीदार के विरूध्द थाना गोगांवा पर अपराध पंजीबध्द कर विवेचना में लिया गया।

 घटना की संवेदनशीलता को देखते हुए पुलिस महानिरीक्षक इंदौर ग्रामीण जोन श्री राकेश गुप्ता व पुलिस उप महानिरीक्षक निमाड रेंज खरगोन श्री तिलक सिंह द्वारा घटना के आरोपी की जल्द से जल्द गिरफ्तारी व बैंक से चोरी की गई राशि को बरामद करने के लिए निर्देशित किया गया। जिसके पालन में पुलिस अधीक्षक ख्श्री धर्मवीरसिंह द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण श्री जितेंदसिंह पंवार व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर श्री मनीष खत्री के मार्गदर्शन में अनुविभागीय अधिकारी भीकनगांव श्री संजू चौहान व थाना प्रभारी गोगांवा श्री महेश सुनैया के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन कर आरोपी की पतारसी के लिए लगाया गया।

पुलिस टीम द्वारा आरोपी अंतिम पाटीदार के गांव जाकर उसके परिजनो व दोस्तो से चर्चा कर उसके संबंध में जानकारी एकत्रित की गई तो पता चला की अंतिम बीएससी तक पढा हुआ हैं व करीब चार साल तक आगरा में किराये से रहा हैं। वह गांजा पीने का भी आदी हैं। अंतिम पाटीदार का इंदौर भी इलाज चला हैं जिसके इलाज के पर्चे उसके घर से पुलिस द्वारा प्राप्त किये गये। पुलिस टीम द्वारा घटना दिनांक के घुघरियाखेडी बेंक के सीसीटीव्ही फुटेज देखने पर आरोपी अंतिम खरगोन तरफ जाता हुआ दिखाई दिया था। जिस पर से पुलिस द्वारा खरगोन तरफ के सीसीटीव्ही फुटेजों को देखा गया तो आरोपी अपनी मोटर सायकल से खरगोन आया व प्रसीडेंट चोराहा होते हुए गायत्री मंदिर से बावडी बस स्टेंड पहुंचा। जहां अपनी मोटर सायकर खडी कर पान दुकान से सामान खरीदने के बाद अपनी मोटर सायकल वही खडी कर पैदल ही बेग को साथ लिये नवगृह तिराहे तरफ जाता हुआ दिखाई दिया। किसी ट्रक अथवा बस के माध्यम से खरगोन से भाग गया।

पुलिस द्वारा 1 नवंबर को ही आरोपी अंतिम पाटीदार की मोटर सायकल को बावड़ी बस स्टैन्ड से जप्त कर लिया गया। इसके पश्चात पुलिस टीम को सूचना मिली की आरोपी ग्वालियर होते हुए मुरैना के पास बामोर में है। जिसपर से पुलिस अधीक्षक खरगोन द्वारा मुरैना पुलिस आशुतोष बागरी से दुरभाष पर बात कर आरोपी को पकडने के लिए मदद मांगी गइर्। जिस पर से पुलिस अधीक्षक मुरैना द्वारा अपने स्थानिय थाने के टीआई को आरोपी को पकडने के लिए लगाया गया। साथ ही खरगोन से एक पुलिस टीम मुरैना के लिए रवाना हो गई। मुरैना पुलिस टीम व खरगोन पुलिस टीम द्वारा संयुक्त रूप आरोपी की तलाश आसपास के इलाके में की लेकिन आरोपी नहीं मिला। खरगोन से मुरैना पहुंची पुलिस टीम आगरा के लिये रवाना हुई व आरोपी के पूर्व के किराये के मकान पर पहुंची व मकान मालिक से आरोपी अंतिम पाटीदार के संबंध में पुछताछ की गई तो बताया कि एक दिन पूर्व ही अंतिम यहा आया था कुछ देर रूकने के बाद वापस चला गया। सूचना के बाद पुलिस टीम अपना भेष बदलकर आस पास के क्षेत्र में अंतिम पाटीदार को तलाशने लगी। दो दिन तक आगरा में पुलिस टीम द्वारा रैकी की गई। गोगावा पुलिस द्वारा भी आरोपी अंतिम पाटीदार के परिजनों से लगातार पूछताछ कर आरोपी के संबंध मे अधिक से अधिक व सही जानकारी देने के लिए दबाव बनाया गया।

जिसके परिणामस्वरूप शनिवार सुबह ही आरोपी अंतिम पाटीदार के परिजन आरोपी को अपने साथ लेकर थाना गोगांवा पर उपस्थित हुए व पुलिस द्वारा आरोपी अंतिम पाटीदार पिता कृष्णलाल पाटीदार निवासी ग्राम बलवाडी को गिरफ्तार किया गया। जिससे बैंक से चोरी गई राशि 21 लाख 26 हजार 999 रुपये, काला बेग व बेंक की चाबिया पुलिस द्वारा जप्त की गई। आरोपी अंतिम पाटीदार द्वारा बैंक में चोरी क्यों कि गई व चोरी करने के पश्चयात वह कहां-कहां गया, किसके साथ गया आदि के संबंध में पूछताछ की जा रहीं हैं।

News Leaders

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Don`t copy text!